जाने कैसे हुआ मुजफ्फरपुर का दंगा दोसी कोन

मुजफ्फरपुर जिले के औराई प्रखंड की भलूरा पंचायत स्थित मिश्रौलिया जागोलिया गाँव में आधी रात को ज़बर्दस्ती मुस्लिम घरों में घुस कर महिलाओं को पुरुष पुलिस ने बेरहमी से पीटा और क़ीमती सामानों को नष्ट कर दिया गया…

बुधवार को बिना अनुमति के ही मस्जिद के रास्ते से विसर्जन जुलूस निकालने के विवाद में दो पक्षों में हिंसक झड़प हो गई।

जागोलिया गांव की महिलायें, शाहिदा खातून,शाहिना खातून,इशरत खातून,खुशबूदा,समीना,जमीला खातून,व पुरुष मुजिबुर रहमान, खालीक,जहीर,मुईन,इरफान,कौसर ने कहा कि कल, 12 अगस्त शाम को मुजफ्फरपुर जिले के औराई थाने के मिश्रौलिया जगोलिया गांव में शाम को बिना अनुमति के 500 सौ की भीड़ केे सााथ मूर्ति ले जाते समय कुछ असामाजिक लोगो ने भड़काऊ नारों के साथ मुस्लिम मुहल्ले से जुलूस निकालने की कोशिश की स्थानीय प्रशासन के लोग पहुंचे। जिसमें यह निर्धारित किया गया था कि बिना डीजे के केवल पांच पुरुष जा सकते हैं। लेकिन फिर प्रशासन की मौजूदगी में पहले की तुलना में अधिक लोग आपत्तिनजक नारा लगाते हुए जुलुस निकालने लगे । जिन्हें बाद में पुलिस ने रोक लिया, पुलिस ने भीड़ को काबू करने के लिए लाठी चार्ज किया और हवा में गोलियां चलाईं, जिसमें दूसरी तरफ से पथराव शूरू कर दिया गया। बाद में, 11 बजे के बाद, गाँव में पुलिस की संख्या बढ़ गई और बाद में पुलिस की मौजूदगी और निगरानी में, दंगाइयों व पुलिस जबरन मुस्लिम घरों में तोड़-फोड़ की और महिलाओं, पुरुषों और बच्चों को बेरहमी से पीटा।लाखों रूपये का सामान भी नस्ट कर दिया ।

और आज सुबह कुछ उपद्रवियों ने जो कि सीमटोका_गाँव से आकर मुस्लिम समुदाय के धार्मिक स्थल ईदगाह के मीनार पर चढ़कर तोडफ़ोड़ किया जिसका सबूत है अभी कर्फ्यू लगा दिया गया है और पुलिस भारी तादाद में तैनात है जबकि उपद्रवी पुलिस के साथ गाँव का चक्कर लगा रहे हैं!

11 निर्दोष मुस्लिम युवकों को गिरफ्तार कर लिया गया है। बाद में उनको छोड़ने के नाम पे मोटी रकम वसूलते हैं…

गाँव में भय और आतंक का माहौल है और पुलिस द्वारा एकतरफा कार्रवाई से वहां के लोग उग्र हैं और गुस्से में हैं
लोगों का मांग है कि
पुलिस की गुंडागर्दी नहीं चलेगी
संबंधित पुलिस कर्मियों को बर्खास्त किया जाये और निर्दोष लोगों को छोड़ा जाये।

 127 total views,  2 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published.