एक रोचक चिट्ठी गाली देने वाले के नाम, गाली देने बाले को मेरा प्रणाम

गाली देने बाले को मेरा प्रणाम। 🙏🙏🙏

मैं सबसे पहले उनकी माता जी को चरण स्पर्श करता हूँ जिन्होने अपने पवित्र गर्व से ऐसे संस्कारी पुत्र को जन्म दी है।आज भारत का कण कण उनका ऋणी है जिन्होंने समाज को ऐसे लायक पुत्र को जन्म दी है।
फिर मैं उन गली देने बाले साथियों के समस्त गुरुजनों को प्रति अपना आभार प्रकट किए बिना नही रह सकता हूँ जिन्होंने उन्हें ऐसी सुसंस्कृत भाषा शैली का प्रयोग करने को सिखाया है।
आज पूरा समाज उन गुरुओं का ऋणी है जिन्हीने अपने शिष्य को मर्यादित भाषा का प्रयोग करने की शिक्षा दी है।

अंत मे मैं अपने ग्रुप के सभी साथियों से निवेदन करता हूँ कि आप लोग ऐसे लोगो पर ध्यान नही दे। वह हमलोगों को मान लिजये 10 रुपये देना चाहता है,और हमलोग उस पैसे को नही लिए तो वह पैसा किसका होगा??
निसंदेह वह पैसा उसी का होगा क्योंकि हमलोग नही लिए।
ठीक उसी तरह से मान लिजये वह हमलोगों को MC गली दिया अगर हमलोग उस गाली को नही लिए तो वह गाली किसका होगा??
निसंदेह जब गाली हमलोग नही लिए तो वह गाली तो देने वाले का ही न हुआ।
सकारात्मक कार्यो में ऊर्जा खर्च करे। ऊर्जा का ह्रास नही होने दें।

 2,167 total views,  4 views today