सिर्फ़ 29 दिन पहले बना पुल की हालत बिहार के भ्रष्ठ नीति को दिखाती है

हमारे वेबसाइट से Amazon पर ऑर्डर करें और पाएं 5% तक कि छूट

ये है गोपालगंज और चंपारण जिले की सीमा पर बना सत्तरघाटये ढेकहाँ का पुल जिसका उद्घाटन 16 जून 2020 को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बड़े ही ताम झाम से किया था.
इसकी कुल लागत 263.48 करोड़ की थी.
इस पुल के बड़े बड़े फायदे बताये गये थे पर ये नहीं बताया गया था कि ये पुल सिर्फ एक महीने ही चलेगा. खैर ये आज गिर गया.
विकास चिघाड़ रहा है…


गोपालगंज में पुल बनने में।लगे 8 वर्ष और लागत है 264 करोड़। और ढाह गया मात्र 29 दिनों में अगर भाग करके देखे तो 1 दिन में 9.10 करोड़ होगा। अब खुद ही सोचे कैसी सुशाशन है???? भष्ट्राचार की सीमा भी नही है इसमें।। सुसशसन बाबू रोड बनवा दिया का नारा देते गई और हम सुशाशन का सरकार चलते है कहकर अपना सीना कूटते है। तो क्या ये सुशाशन है????

 202 total views,  1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published.