तेजस्वी के चुनाव तर्ज पर आई बीजेपी किया 19 लाख रोजगार की घोषणा

बिहार विधानसभा 2020 नामांकन फाइल के जाने के बाद अब चुनावी सरगर्मियां तेज हो गई हैं
हर पार्टी दावे कर रही है कि वह बेहतर बिहार बनाएगा यहां तक कि एक पार्टी बिहारी फर्स्ट किनारा दे रही है जबकि वही पार्टी लगातार बीजेपी के साथ लोगों को बेरोजगार करने के मददगार रही है।


और बीजेपी के तमाम सहयोगी दलों को भी यह धमकी देते हैं अपनी बात को दावे के साथ कह रही है बगैर लोजपा की मदद के बीजेपी चुनाव जीत ही नहीं सकती
बात है चुनावी घोषणा में रोजगार की तेजस्वी में ने पहले ही 1000000 रोजगार देने का वादा किया था जो अपने पहले कांफ्रेस में कहा था कि हम पहेली कैबिनेट बैठक में यह फैसला करेंगे इसका लाख रोजगार युवाओं को मिल जाए और बहुत सारे पद खाली पड़े हैं इसको भरे नहीं हम आते ही इसको भरने का कार्य करेंगे
बीजेपी लगातार सवाल पर सवाल दाग रही थी कि इतनी रोजगार की जगह बिहार में है ही नहीं अगर रोजगार दे भी देंगे तो रुपए आएंगे कहां से इस तरह के सवालात मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लगातार अपने भतीजे श्री लालू प्रसाद के बेटे तेजस्वी यादव पर उतारा
और जब पिछले दिनों बड़ी भीड़ तेजस्वी यादव के सभाओं में होर हुई तो बीजेपी ज्यादा ही बौखला गई है अब उसका दिखावा राष्ट्रवाद उसे सच्चाई दिखाने लगा है।
उसी के मद्देनजर देखते हुए बीजेपी आज 1000000 की जगह 19 लाख लोगों को रोजगार देने की दावे के साथ अपने घोषणापत्र में जारी किया है
अब जनता भी सस्पेंड में है कि आशिक बात किस की मानी जाए इससे पहले तू करो रोजगार सेंट्रल सरकार ने की थी बीजेपी सरकार में सत्ता दो मर्दों वाली बात चुकी है लेकिन दो करोड़ रोजगार प्रति वर्ष के हिसाब से एक करोड़ भी रोजगार नहीं हो पाई है
जनता को फैसला करना है कि जनता इस पर यकीन है और किस पर यकीन ना करें और किन बातों पर अपना वोट करें
बाकी खबरों के लिए हमारे साथ जुड़े रहे सीमांचल press.com