STET छात्रों का जोरदार प्रदर्शन, सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

PATNA :बिहार में शिक्षा व्यवस्था का हाल बेहाल हो चुका है, जिसके विरोध में अभ्यर्थी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते नजर आते हैं. ताजा मामला है कि STET छात्रों ने एक बार फिर बीएसईबी गेट के पास प्रदर्शन किया है. छात्रों की मांग है कि उनके रिजल्ट को जल्द से जल्द प्रकाशित किया जाए. प्रदर्शनकारी छात्रों का कहना है कि उनकी परीक्षा 28 जनवरी को सभी नियमानुसार ली गई थी लेकिन अचानक पांच महीने बाद उस परीक्षा को रद्द कर दिया गया और नए रिजल्ट को प्रकाशित कर दिया गया. उन्होंने कई बार नीतीश सरकार से और बिहार बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर से मदद की गुहार लगाई लेकिन आजतक उस मामले में कोई पहल नहीं की गई है. छात्रों ने सरकार पर शिक्षा विरोधी होने का आरोप लगाते हुए पुरानी परीक्षा के आधार पर रिजल्ट प्रकाशित करने की मांग की है. छात्रों ने इतना तक कह दिया है कि यदि उनकी मांगों को जल्द से जल्द पूरा नहीं किया जाता है तो वो लोग बीएसईबी गेट के बाहर आत्मदाह करने को मजबूर होंगे जिसकी सारी जवाबदेही बिहार बोर्ड के अधिकारी और सरकार की होगी.

एसटीइटी मामले को लेकर छात्र अभ्यार्थी ने हाईकोर्ट में पिटीशन भी दायर की हुई है कि जब आनंद किशोर ने यह बयान जारी करते हुए कहा था कि किसी किस्म की कोई कदाचार परीक्षा में नहीं हुई है और नहीं पेपर लीक हुआ है और तो और सभी कुछ शांति से गुजर किया है तो 6 महीने के बाद रिजल्ट को रद्द किए जाने का मतलब क्या है छात्र लगातार सवाल कर रहे क्या शिक्षा माफियाओं की और जो भर्ती प्रोसेस में कदाचार करने वाले लोगों की सेटिंग नहीं हो पाई है इसलिए दोबारा परीक्षा लिया जा रहा है परीक्षा रद्द करके कहीं तो मकसद नहीं है छात्र लगातार परेशान है आप देख रहे हैं देखते हैं हमारे सीमांचल press.com को और पल-पल की खबर जानते रहिए

 670 total views,  2 views today